बच्चों के मुंह से बदबू आने के कारण और उपाय । Bacho Ke Muh Se Badbu Aana

Bacho Ke Muh Se Badbu Aana
IN THIS ARTICLE

बच्चों को शारीरिक स्वच्छता के बारे में सिखाना माता-पिता की जिम्मेदारी होनी चाहिए। अगर शरीर का कोई भी हिस्सा ठीक तरह से साफ न हो, तो बच्चों के शरीर से दुर्गंध आ सकती है। इससे बच्चों को लोगों के सामने लज्जित होना पड़ सकता है। खासकर, जब मुंह से बदबू आने लग जाए, तो अक्सर बच्चे मुंह खोलने से कतराने लग जाते हैं। मॉमजंक्शन के इस आर्टिकल में हम आपको बच्चों के मुंह से बदबू आने के कारण और मुंह से बदबू हटाने के तरीका के बारे में विस्तार से बताएंगे।

बच्चों के मुंह से बदबू (Halitosis) आना क्या है? | Bacho Ke Muh Se Badbu Aana

मुंह से बदबू आने की समस्या को हैलिटोसिस के नाम से जाना जाता है। यह समस्या बड़ों की तुलना में बच्चों में ज्यादा पाई जाती है (1)। यह गंध बच्चे के गलत खान-पान या सही तरीके से दांत साफ न करने के कारण आ सकती है। इस गंध की वजह से स्कूल में बाकी बच्चे उससे दूर रहने लग सकते है। इसलिए, हम लेख में आगे मुंह की गंध को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपचार भी बताएंगे, जो आपके बच्चों के काम आएंगे।

बच्चों के मुंह से बदबू आने के कारणों के बारे में हम लेख के अगले भाग में बता रहे हैं।

बच्चों के मुंह से बदबू आने का कारण

बच्चों के मुंह से कई कारणों से बदबू आ सकती है, जिसके बारे में हम नीचे क्रमवार बता रहे हैं (2), (3) :

  • खाद्य पदार्थ : कुछ खाद्य पदार्थ के कारण मुंह से बदबू आ सकती है। इनमें लहसुन, प्याज, चीज़, संतरे का रस व सोडा आदि शामिल है।
  • मुंह में गंदगी : बच्चे अक्सर जल्दी-जल्दी ब्रश करते हैं, जिस कारण मुंह के बैक्टीरिया पूरी तरह से साफ नहीं हो पाते हैं। इस कारण मुंह से गंध आ सकती है।
  • दवाई : कुछ दवाइयां ऐसी होती हैं, जिन्हें लेने के बाद बच्चे के मुंह से बदबू आ सकती है। इनमें लिवर, पाचन तंत्र व फेफड़ों की दवाइयां शामिल हैं।
  • मुंह का संक्रमण : मुंह और गले से जुडे संक्रमण भी दुर्गंध का कारण बन सकते हैं। इनमें खराब गला, टॉन्सिलिटिस, दांत टूटना और मसूड़ों की बीमारी हो सकती है।
  • नाक की समस्या : अगर नाक में किसी भी प्रकार का रोग है, तो इस कारण से भी मुंह से बदबू आ सकती है, क्योंकि नाक और मुंह के बीच संबंध होता है। नाक से जुड़ी समस्या में साइनस आदि शामिल है।
  • मुंह का सूखापन : अगर आपके बच्चे का मुंह ज्यादातर समय ड्राई रहता है, तो इस सूखेपन के कारण भी मुंह से बदबू आ सकती है।

चलिए, अब जानते हैं कि मुंह से आने वाली दुर्गंध का निदान किस तरह से किया जा सकता है।

बच्चों के मुंह की बदबू का निदान कैसे करें?

मुंह के गंध का निदान करना आसन है, जो इस प्रकार है (4):

  • ऑर्गेनोलेप्टिक मेजरमेंट: मुंह के गंध का पता लगाने का सबसे आसान और पुराना तरीका नाक से सूंघना है। इसमें प्रभावित व्यक्ति के मुंह और नाक से आती गंध के जरिए पता लगाया जाता है।
  • गैस क्रोमैटोग्राफी: इस विधि के अंतर्गत पीड़ित व्यक्ति की लार व जीभ में जमी परत के सैंपल लिए जाते हैं। फिर इन सैंपल की जांच करके दुर्गंध का पता लगया जा सकता है।
  • सल्फाइड मॉनिटरिंग: बेशक, गैस क्रोमैटोग्राफी का परिणाम सटीक होते हैं, लेकिन य प्रक्रिया महंगी है। इसलिए, सल्फाइड मॉनिटर नामक डिवाज का निर्माण किया गया। इस विधि में मुंह में सल्फाइड मॉनिटर की एक डिस्पोजेबल ट्यूब डाली जाती है। इससे मुंह की दुर्गंध का पता लगाया जा सकता है।

आगे हम कुछ इलाज बता रहे हैं, जिनसे बच्चों के मुंह से आती गंध को ठीक किया जा सकता है।

बच्चों के सांस की बदबू का इलाज

अगर आपके बच्चे के मुंह से भी बदबू आ रही है, तो ये इलाज इस समस्या में कारगर साबित हो सकते हैं (5) :

  • डॉक्टरी उपचार : मुंह की दुर्गंध के लिए मौखिक स्वास्थ्य का ध्यान रखना जरूरी है। मौखिक स्वास्थ्य के लिए आपको डॉक्टर से चेकअप करवाना चाहिए। डॉक्टर जांच के आधार पर बताएंगे कि क्या उपचार किया जाना है।
  • पीरियडोंटिस्ट : आपके मसूड़ों की बीमारी का इलाज करने पर मुंह की बदबू कम हो सकती है। इसके लिए पीरियडोंटिस्ट मददगार हो सकते हैं। पीरियोडोंटिस्ट आपके मसूड़े की सफाई कर बैक्टीरिया और दांतों में जमी मैल को हटाते हैं। इससे आपके मसूड़ों की सूजन कम हो सकती है और धीरे-धीरे मुंह की बदबू भी खत्म हो सकती है।
  • एंटी माइक्रोबियल माउथवॉश : डॉक्टर आपको एंटी माइक्रोबियल युक्त लिक्विड देकर उससे कुल्ला करने की सलाह दे सकते हैं। इसे ब्रश करने के बाद किया जाता है।
  • बीमारी का इलाज : अगर किसी बीमारी के कारण मुंह से गंध आ रही है, तो डॉक्टर उसका उपचार कर सकते हैं। इससे भी मुंह की दुर्गंध से छुटकारा मिल सकता है।

लेख में आगे हम बच्चों के मुंह से आने वाली बदबू को दूर करने के लिए कुछ काम की बातें बता रहे हैं।

बच्चों में सांसों की बदबू रोकने के टिप्स

जब बच्चों के मुंह से अधिक दुर्गंध आने लगती है, तो ऐसे में माता-पिता को कुछ सूझता नहीं है और वे लोगों से इसे दूर करने के सुझाव पूछते रहते हैं। यहां हम इसी संबंध में कुछ जरूरी टिप्स दे रहे हैं (3), (6) :

  • बच्चों को ब्रश करने के लिए हमेशा फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट दें। बच्चों में सुबह उठने के बाद और रात को सोने से पहले ब्रश करने की आदत डालें। शुरुआत में ध्यान दें कि बच्चा अच्छी तरह से ब्रश कर रहा है या नहीं।
  • बच्चे के खान-पान पर ध्यान देने से भी मुंह की दुर्गंध को दूर किया जा सकता है। उसे कम वसा वाले खाद्य पदार्थ दें, जिनमें फल और सब्जियों शामिल हों।
  • मुंह में नमी बनाए रखने के लिए तरल पदार्थ अधिक से अधिक दें, ताकि मुंह हाइड्रेटेड रहे और दुर्गंध को रोका जा सके।
  • पेट से जुड़ी समस्याओं का इलाज करके भी मुंह की बदबू से छुटकारा पाया जा सकता है।
  • हर तीन महीने में बच्चे के टूथब्रश को बदलें।
  • साल में दो बार डॉक्टर से अपने बच्चे के मुंह और दांत का चेकअप जरूर कराएं।

आइए, अब बच्चों के मुंह की बदबू को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपायों के बारे में बात कर लेते हैं।

बच्चों के मुंह की बदबू के लिए घरेलू नुस्खे

  1. पार्सले– पार्सले जिसे अजमोद के नाम से भी जाना जाता है। इसका उपयोग मुंह की दुर्गंध को दूर करने के लिए घरेलू उपचार की तरह किया जा सकता है। अजमोद में क्लोरोफिल गुण पाया जाता है, जो शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद कर सकता है। इसे चबाने से मुंह की दुर्गंध को दूर करने में मदद मिल सकती है (7)
  1. सौंफ का उपयोग– सौंफ को मुंह की बदबू को दूर करने में लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए इसमें पाए जाने वाले एंटी माइक्रोबियल गुण सहायक होते हैं। इस कारण सौंफ बैक्टीरिया को दूर रखने का काम करती है (8)। आप सौंफ के कुछ दाने बच्चे को चबाने के लिए दे सकते हैं।
  1. दालचीनी– दालचीनी में एल्डिहाइड होता है, जो सांसों की दुर्गंध को दूर करने का काम कर सकता है। साथ ही मुंह के बैक्टीरिया को भी कम करता है। इससे सांसों की बदबू का इलाज करने में मदद मिल सकती है (8)। दालचीनी को गुनगुने पानी में घोल कर गरारे करने से आराम मिल सकता है।
  1. लौंग– कई लोग भोजन के बाद लौंग खाना पसंद करते है, क्योंकि यह आपके मुंह से भोजन के गंध को दूर करने का काम करती है। इसके लिए इसमें पाए जाने वाले एंटी बैक्टीरियल गुण लाभकारी हो सकते हैं, जो सांसों की गंध को दूर कर सकते हैं (8)। लौंग को चबाने से मुंह की बदबू कम हो सकती है।
  1. नींबू का रस– नींबू पानी से गरारे कर मुंह की बदबू का इलाज किया जा सकता है। नींबू में पाए जाने वाले एसिडिक गुण मददगार होते हैं। यह आपके मुंह में बैक्टीरिया को पनपने से रोकते हैं। इससे मुंह की गंध को कम किया जा सकता है (8)
  1. बेकिंग सोडा– बेकिंग सोडा को सोडियम बाइकार्बोनेट भी कहा जाता है। इसका उपयोग सांस की गंध से छुटकारा पाने का अच्छा उपाय हो सकता है। बेकिंग सोडा के इस्तेमाल से एसिड के स्तर को संतुलित करने में मदद मिल सकती है, जो मुंह में गंध के कारण बनने वाले बैक्टीरिया को दूर किया जा सकता है (8)। बेकिंग सोडा के घोल से कुल्ला करने पर मुंह की दुर्गंध दूर हो सकती है।
  1. ग्रीन एंड ब्लैक टी– हर्बल चाय आपकी सांसों की बदबू को दूर करने में मददगार हो सकती है। दरअसल, चाय में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट पॉलीफेनोल सांस की गंध के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया को विकसित होने से रोकते हैं (8)। ध्यान रहे कि हर्बल चाय में पाए जाने वाले कैफीन के कारण बच्चों को अनिद्रा की समस्या उत्पन्न हो सकती है। इसलिए, छह साल या उससे कम उम्र के बच्चों को हर्बल चाय नहीं देनी चाहिए (9) (10)। वहीं, छह साल से बड़े बच्चों को भी डॉक्टर की सलाह पर ही हर्बल चाय दें।

अगर आप सोच रहे है कि मुंह की दुर्गंध के इलाज के लिए डॉक्टर के पास कब जाएं, तो इसकी जानकारी आपको लेख के अगले भाग में मिलेगी।

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए

मुंह की दुर्गंध के कारण कुछ बड़ी समस्या भी उत्पन्न हो सकती है। इसके छुटकारा पाने के लिए डॉक्टर का सहारा लेना पड़ सकता है। अगर आपके बच्चे में इस तरह के लक्षण नजर आएं, तो तुंरत डॉक्टर से संपर्क करें (2):

  • मसूड़े में सूजन और दर्द होने पर।
  • किसी दांत के ढीले होने पर।
  • गले में अधिक खराश हो, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।
  • अगर सांस की दुर्गंध के कारण बुखार है, तो बिना देर किए डॉक्टर के पास जाएं।

इस लेख को पढ़ने के बाद आपको अपने बच्चे के मुंह की दुर्गंध के कारण दूसरों के सामने शर्मिंदा नहीं होना पड़ेगा। आप इस लेख को पढ़ने के बाद अच्छी तरह समझ गए होंगे कि मुंह से दुर्गंध किस कारण से आती है। साथ ही किस प्रकार छोटे-छोटे बदलाव से उसे ठीक किया जा सकता है। अगर आप इस विषय के संबंध कुछ और जानना चाहते हैं या अपने अनुभव सभी के साथ शेयर करना चाहते हैं, तो आप नीचे दिए कमेंट बॉक्स का प्रयोग कर सकते हैं।

संदर्भ (Reference):

Was this information helpful?
Comments are moderated by MomJunction editorial team to remove any personal, abusive, promotional, provocative or irrelevant observations. We may also remove the hyperlinks within comments.

The following two tabs change content below.

Latest posts by Bhupendra Verma (see all)

Bhupendra Verma

Back to Top